नरेगा के क्रियांवय में सुधार: ग्रामीण विकास मंत्रित्व शाका

जैसे की आप जानते हैं, नए ग्रामीण विकास मंत्री ने कई घोषणाएँ की हैं. ग्रामीण विकास मंत्रालय ने एक सितम्बर को एक नया “नोट” जारी किया है, “नरेगा के क्रियांवय में सुधार” के नाम से, जिसमें “नरेगा के क्रियांवय में ९ मुख्य चुनौतियाँ और उनको सुलझाने के उपाय” पर टिप्पणी और सुझाव मांगे गए हैं, “दो या तीन हफ्ते” के अंदर. जिन चुनोतियों से यह “नोट” निपटने का लक्ष्य रखता है (जैसे की मांग पर काम, भुगतान में होने वाली देरी कम करना) उनसे जमीनी संगठन झूझते आये हैं, और यह महत्वपूर्ण है की वे अपने सुझाव इस “नोट” पर मंत्रालय को दें. क्योंकि यह इस नोट में नहीं लिखा है की यह सुझाव किसको देने हैं, आप ग्रामीण विकास मंत्री को फैक्स कर सकते हैं (इन नंबरों पर), उनके निजी सचिव आर विनील कृष्णा को vineelkrishna@gmail.com पर ईमेल कर सकते हैं या मीडिया में लिख सकते हिन्. अपने सुझाव ज़रूर भेजें, और एक प्रति रोज़गार को भी भेजें, जिससे वह अगली अपडेट में शामिल की जा सके. रोज़गार अपडेट अनियमित हो गयी हैं, और इसके लिए हम आपसे माफ़ी चाहते हैं. अगली अपडेट जल्द ही होगी. बाकी घोषणाएँ “दिल्ली में देवेलोप्मेंट” में हैं, जिन में से यह स्पष्टीकरण की नरेगा का काम खेती के दिनों में स्थगित नहीं किया जा सकता, और नरेगा स्कीमों के जांच की नियम मुख्य हैं. फील्ड से भी के ज़रूरी अपडेट हैं.

Comments

Posted in Policies, हींदी and tagged .

Leave a Reply